खेल की अंगूठी

खेल की अंगूठी

time:2021-10-26 07:59:36 इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब Views:4591

फेलोवबेट 80 खेल की अंगूठी 10cric प्रधान कार्यालय,betway जिम्बाब्वे,लियोवेगास नेट वर्थ,lovebet बेट 5,lovebet मोबाइल ऐप,lovebet xfl,आ स्लॉट llc,बैकरेट ड्रैगन टाइगर फाइटिंग आदि।,बैकरेट सिस्टम रेंटल,बेटिंग गेम URL,कैसीनो 8 बिलिंग्स एमटी,कैसीनो समानार्थक शब्द,क्लासिक रम्मी गेम,क्रिकेट खोखला विम्बरली,क्या बैकरेट के पास कोई तंत्र है?,यूरोपीय फुटबॉल डाउनलोड,फुटबॉल लॉटरी जादूगर,उत्पत्ति कैसीनो समूह समाचार,कैसे बैकारेट लोगों को धोखा देता है,आईपीएल का फुल फॉर्म,जैकपॉट प्रश्नोत्तरी 30000,लाइव लाठी मलेशिया,लाइव रूले बनाम ऑनलाइन रूले,मेरे पास लॉटरी विक्रेता,ना क्रिकेट,मुफ्त में ऑनलाइन कैसीनो पंजीकरण,दोस्तों के लिए ऑनलाइन पोकर,पैरिमैच कंपनी,पोकर आकलन तकनीक,आर फुटबॉल हाइलाइट्स,माणिक 8 बैकारेट,रमी गाने डाउनलोड,स्लॉट मशीन एमुलेटर,चाँद पर खेल,स्पोर्ट्सबुक ईटीएफ,टेक्सास होल्डम ग्रा,तीन यूरोपीय गेमिंग कंपनियां,जमीन पर चलने का क्या मतलब है?,एक्स क्रिकेट बॉल्स,इलेक्ट्रॉनिक खेल nrj,कैसीनो के खेल xxvii,गोवा उन्होंने कहा,ज्ञानेश्वरी स्टेटस,फुटबॉल मैच रिजल्ट,बेटा धोको देगी,लॉटरी खेलने का,स्पोर्ट्स योग .इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

टैक्स के लिहाज से इंटरनेशनल फंड को वही दर्जा हासिल है, जो डेट म्यूचुअल फंड का है. इस फंड में तीन साल से कम समय तक निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इसके मुनाफे पर शॉर्ट टर्म कैपिटल गेंस टैक्स देना पड़ता है.
पिछले कुछ समय से इंटरनेशनल फंड की बहुत चर्चा हो रही है. इसकी वजह इन फंडों में निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी है. हालांकि, अब भी निवेशकों को ऐसे फंड़ों के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है. इंटरनेशनल फंड का मतलब क्या है? क्या इन फंडों में निवेश का क्या फायदा है? क्या आपको इस फंड में निवेश करना चाहिए? आइए इन सवालों का जवाब जानने की कोशिश करते हैं.

इंटरनेशनल फंड में आपको क्यों निवेश करना चाहिए?
जोखिम घटाने के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंडों के पोर्टोफोलियो का डायवर्सिफिकेशन जरूरी है. डायवर्सिफिकेशन का मतलब अलग-अलग तरह के फंडों में निवेश है. कई बार भारतीय अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहता है, जबकि विदेशी बाजार का प्रदर्शन अच्छा होता है. दुनिया के कई बाजारों का भारत से ज्यादा संबंध नहीं है. ऐसे में इंटरनेशनल फंड में निवेश से डायवर्सिफिकेशन में मदद मिलती है. इससे आपका जोखिम घट जाता है.

निवेशकों के लिए इंटरनेशनल फंड में निवेश के लिए कौन-कौन से विकल्प हैं?
आज भारतीय निवेशकों के लिए इंटरनेशनल फंड के कई विकल्प हैं. ये देश, क्षेत्र, थीम और टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं. कोई भारतीय निवेशक रुपये में इन इंटरनेशनल फंडों में निवेश कर सकता है. आप सामान्य म्यूचुअल फंड की तरह इंटरनेशनल फंड का चुनाव कर उसमें ऑनलाइन या ऑफलाइन निवेश कर सकते हैं.

इंटरनेशनल फंड किस तरह विदेशी शेयरों में निवेश करते हैं?
भारतीय बाजार में मौजूद इंटरनेशनल फंड सीधे विदेशी कंपनियों के शेयरों में या विदेश के दूसरे फंडों में निवेश करते हैं. दूसरे फंडों में निवेश को फीडर रूट कहा जाता है. यह एक तरह से फंड ऑफ फंड की तरह है.

यह भी पढ़ें : एनपीएस में निवेश की उम्र सीमा बढ़कर हो सकती है 70 साल!

इंटरनेशनल फंडों के रिटर्न पर किस तरह टैक्स लगता है?
टैक्स के लिहाज से इंटरनेशनल फंड को वही दर्जा हासिल है, जो डेट म्यूचुअल फंड का है. इस फंड में तीन साल से कम समय तक निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इसके मुनाफे पर शॉर्ट टर्म कैपिटल गेंस टैक्स देना पड़ता है. टैक्स की दर निवेशक के टैक्स स्लैब के अनुसार होती है. तीन साल से ज्यादा वक्त तक फंड में निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इंडेक्सेशन का फायदा मिलता है. इसकी वजह यह है कि इसे लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस माना जाता है. इंडेक्सेशन के बाद टैक्स की दर 20 फीसदी होती है.

क्या इंटरनेशनल फंड में निवेश करने में बहुत जोखिम है?
शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा ऐसे फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है. भारत में निवेशक रुपये में निवेश करता है. लेकिन, म्यूचुअल फंड कंपनी को उस देश की मुद्रा में इंटरनेशनल फंड में निवेश करना पड़ता है, जहां का वह फंड होता है. इसलिए इंटरनेशनल फंड में निवेश करने से पहले आपको करेंसी में होने वाले उतार-चढ़ाव के जोखिम के लिए तैयार रहना होगा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

इंटरनेशनल फंडडेट फंडइक्विटी म्यूचुअल फंडम्यूचुअल फंडफंड ऑफ फंड

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.जियोफोन नेक्स्ट 4जी स्मार्टफोन 30 करोड़ 2जी उपयोगकर्ताओं, क्षेत्रीय भाषा वाले लोगों को लक्षित करेगा

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक ने बासेल-तीन अनुकूल बांड जारी कर 1,500 करोड़ रुपये जुटाए हैं। केनरा बैंक ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि बैंक ने 1,500 करोड़ रुपये के बासेल तीन अनुकूल अतिरिक्त टियर एक बांड जारी और आवंटित किए हैं। बैंक ने कहा कि 16 आवंटियों को ये बांड जारी किए गए हैं। इनका कूपन दर 8.40 प्रतिशत है। बीएसई में केनरा बैंक का शेयर 1.71 प्रतिशत के लाभ के साथ 201.95 रुपये परनयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप के दूसरे चरण की शुरुआत की। दो वर्षीय फेलोशिप का मकसद युवाओं के लिये अवसर सृजित करना और जमीनी स्तर पर कौशल विकास को बढ़ाना है। ‘फेलोशिप’ के तहत शैक्षणिक भागीदार आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान) द्वारा कक्षा सत्रों को जिला स्तर पर क्षेत्र में व्यापक अनुभव के साथ संयोजित करने का प्रयास किया गया है। इसका उद्देश्य रोजगार, आर्थिक उत्पादन बढ़ाने और आजीविका को प्रोत्साहन देने के लिए विश्वसनीय योजनाएं बनाने तथा इनसे जुड़ी बाधाओं की पहचान करना है। इस मौके परप्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन की सभी स्कीमों से निकलने की दी सलाह

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
आईपीएल एक्समैं 2021

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.

ऑनलाइन पोकर आप दोस्तों के साथ खेल सकते हैं

मुंबई, 25 अक्टूबर (भाषा) देश में मौजूदा तिमाही में नियुक्ति गतिविधियां बढ़ रही हैं, जिससे रोजगार बाजार में सुधार और मजबूती का पता चलता है। एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में अक्टूबर-दिसंबर, 2021 की तिमाही में भर्ती संबंधी गतिविधियों में वृद्धि मुख्य रूप से इंजीनियरिंग और विनिर्माण के साथ-साथ प्रौद्योगिकी क्षेत्रों के अच्छे प्रदर्शन की वजह से हो रही है। वैश्विक नियुक्तियां विशेषज्ञ माइकल पेज ने यह रिपोर्ट जारी की है और यह उसके भारत से संबंधित विशिष्ट डेटा पर आधारित है। इसमें कहा गया है कि भर्ती से जुड़ी गतिविधियों में उछाल आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि,

बैकारेट 777

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए.

lovebet 2020 चुनाव

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) रामको सीमेंट्स लिमिटेड ने सोमवार को बताया कि सितंबर में समाप्त तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ करीब दोगुना से अधिक बढ़कर 519.12 करोड़ रुपये हो गया। इसका कारण टाले गये अतिरिक्त कर के एवज में किये गये प्रावधान की वापसी और बिक्री में वृद्धि होना है। कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर अवधि के दौरान उसने 238.92 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कुल

पूल रम्मी एक्सबॉक्स

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को नागर विमानन मंत्रालय और दूरसंचार विभागों के पूंजीगत व्यय की समीक्षा की और दोनों विभागों से परियोजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने को कहा। बैठक के दौरान नागर विमानन मंत्रालय और दूरसंचार विभाग के पूंजीगत व्यय, ढांचागत परियोजनाओं और संपत्ति मौद्रिकरण योजना की प्रगति का जायजा लिया गया। वित्त मंत्रालय ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नागर विमानन मंत्रालय से यह सुनिश्चित करने को कहा कि अधिक से अधिक परियोजनाओं का क्रियान्वयन हो और पूंजी व्यय 2022-23 में मौजूदा अनुमान लक्ष्य से उल्लेखनीय रूप से

संबंधित जानकारी
रूले वीडियो गेम

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय फेलोशिप के दूसरे चरण की शुरुआत की। दो वर्षीय फेलोशिप का मकसद युवाओं के लिये अवसर सृजित करना और जमीनी स्तर पर कौशल विकास को बढ़ाना है। ‘फेलोशिप’ के तहत शैक्षणिक भागीदार आईआईएम (भारतीय प्रबंधन संस्थान) द्वारा कक्षा सत्रों को जिला स्तर पर क्षेत्र में व्यापक अनुभव के साथ संयोजित करने का प्रयास किया गया है। इसका उद्देश्य रोजगार, आर्थिक उत्पादन बढ़ाने और आजीविका को प्रोत्साहन देने के लिए विश्वसनीय योजनाएं बनाने तथा इनसे जुड़ी बाधाओं की पहचान करना है। इस मौके पर

गरम जानकारी